राज्य

फोन टैपिंग मामला: गहलोत के OSD पूछताछ के लिए दिल्ली पहुंचे

जयपुर
राजस्थान फोन टैपिंग मामले में 5 वीं बार नोटिस मिलने के बाद सीएम अशोक गहलोत के ओएसडी लोकेश शर्मा आज दिल्ली पहुंच गए है। सीएम के ओएसडी से दिल्ली पुलिस की अपराध से पूछताछ कर रही है। लोकेश शर्मा ने वर्ष 2020 में पायलट गुट की बगावत के समय फोन टैपिंग की आॅडियो की वायरल की थी। माना जा रहा है कि दिल्ली पुलिस लोकेश शर्मा से आॅडियो वायरल के बारे में पूछताछ करेगी। केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने  लोकेश शर्मा के खिलाफ दिल्ली में मामला दर्ज कराया था। इस मामले में दिल्ली पुलिस पहले भी लोकेश शर्मा से पूछताछ कर चुकी है। उल्लेखनीय है कि 3 बार यानी 24 जुलाई 2021, 22 अक्टूबर 2021 और 12 नवम्बर 2021 को शर्मा क्राइम ब्रांच के समक्ष पेश नहीं हुए। चौथी बार यानी 6 दिसम्बर में को वो फिर तलब हुए तो पहुंचे। उस दौरान उनसे घंटों तक पूछताछ हुई थी।

पायलट की बगावत के समय हुआ था ऑडियो वायरल
राजस्थान में 2020 में पायलट गुट की बगावत के समय फोन टैपिंग के ऑडियो वायरल हुआ था। राजस्थान की सियासत में उन दिनों हलचल मची हुई थी। सचिन पायलट गुट की बगावत के बीच 3 ऑडियो टेप जारी किए गए। क्लिप में कांग्रेस विधायकों की खरीद-फरोख्त की बात सामने आई थी। यह ऑडियो मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के ओएसडी लोकेश शर्मा की ओर से जारी किए गए थे। जिसमें शक के घेरे में केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत आए थे। गजेंद्र सिंह शेखावत ने फोन टैपिंग को गलत बताते हुए दिल्ली में शिकायत दर्ज कराई थी। इसमें मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के ओएसडी लोकेश शर्मा का नाम था। दिल्ली पुलिस ने मार्च 2021 में फोन टैपिंग का मामला दर्ज किया था।  

गहलोत ने शेखावत पर लगाए थे आरोप
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने हाल ही में केंद्रीय मंत्री गजेद्र सिंह शेखावत पर फोन टैपिंग मामले में वाॅयस सैंपल नहीं देने पर निशाना साधा था। सीएम गहलोत ने कहा कि केंद्रीय मंत्री के इशारे पर ही राजस्थान में उनकी सरकार को गिराने की कोशिश की गई, लेकिन समय रहते सतर्क रहने पर उनकी सरकार बच गई। सीएम ने केंद्रीय मंत्री पर आरोप लगाया कि उनकी सरकार को अस्थिर करने में लगे रहते हैं।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close