दिसपुर. भाजपा नेता हिमंत बिस्व सरमा (Himanta Biswa Sarma)  ने असम के 15वें मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली. एनईडीए समन्वयक हिमंत बिस्व सरमा ने सोमवार को श्रीमंत शंकरदेव कलाक्षेत्र में असम के मुख्यमंत्री (Assam Chief Minister) पद की शपथ ली. दिन में 12 बजे राज्यपाल जगदीश मुखी ने सरमा को मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई. सरमा के साथ उनके 13 कैबिनेट मंत्रियों ने भी शपथ ली.

सरमा के साथ उनके सहयोगियों में अतुल बोरा ,परिमल शुक्ल बैद्य ,पीजूष हजारिका ,जोगन मोहन ,संजय किशन ,चंद्र मोहन पटोवेरी ,बिमल बोरा ,अशोक सिंघल ,यूजी ब्रह्मा ,रंजीत दास ,रोनूज पेगू ,केशब महंत और अजंता नेग ने शपथ ली.

बीेजेपी चीफ जेपी नड्डा, त्रिपुरा के सीएम बिप्लब देब, मेघालय के सीएम कोनराड संगमा, मणिपुर के सीएम एन बीरेन सिंह, और नागालैंड के सीएम नीफिउ रियो, पूर्व सीएम सर्बानंद सोनोवाल भी असम के सीएम हिमंत बिस्वा सरमा और उनके मंत्रिमंडल के शपथ ग्रहण समारोह में मौजूद थे.

पीएम ने सरमा और सोनोवाल के लिए किया ट्वीट


सरमा के शपथ लेने पर पीएम मोदी ने ट्वीट कर बधाई भी दी. पीएम ने लिखा- 'हिमंत बिस्वा जी और आज शपथ लेने वाले अन्य मंत्रियों को बधाई. मुझे विश्वास है कि यह टीम असम की विकास यात्रा को गति देगी और लोगों की आकांक्षाओं को पूरा करेगी.'

इसके साथ ही पीएम ने पूर्व सीएम सर्बानंद सोनोवाल के लिए भी ट्वीट किया. पीएम ने लिखा, 'मेरे अमूल्य सहयोगी सर्बानंद सोनवाल जी पिछले पांच वर्षों में एक जन-समर्थक और विकास-समर्थक प्रशासन के मुखिया थे. असम की प्रगति और राज्य में पार्टी को मजबूत बनाने के लिए उनका योगदान बहुत बड़ा है.'सरमा लगातार पांचवीं बार जलुकबाड़ी सीट से विधायक निर्वाचित हुए हैं. असम की 126 सदस्यीय विधानसभा में सत्तारूढ़ गठबंधन को 75 सीटें मिली हैं. भाजपा को 60 सीटें मिली हैं जबकि उसके गठबंधन साझेदार असम गण परिषद (एजीपी) व यूनाइटेड पीपुल्स पार्टी लिबरल (यूपीपीएल) को क्रमश: नौ और छह सीटें मिली हैं.