मध्य प्रदेश

आज से 7 अक्टूबर तक चलेगा स्वच्छता अभियान, सिंगरौली में स्वच्छता पर खर्च करेंगे कलेक्टर

भोपाल
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 71 वें जन्मदिन पर भाजपा का हर नेता और कार्यकर्ता सेवा और समर्पण अभियान में तय कार्यक्रमों को पूरा करने के लिए तैयार है और आज से इसकी शुरुआत हो गई है। सात अक्टूबर तक चलने वाले अभियान में सबसे अधिक फोकस स्वच्छता अभियान पर किया जाएगा क्योंकि पीएम मोदी ने देश भर में इसको लेकर पिछले कई सालों से अभियान छेड़ रखा है। हर जिले, ग्राम पंचायत, नगर निकाय में बस्तियों और नदियों में 71 स्थानों पर सफाई का कार्यक्रम चलाया जाएगा। प्रदेश भाजपा ने इसको लेकर तय कार्यक्रमों की जानकारी संभागीय, जिला और मंडल स्तर पर बैठकों के माध्यम से पदाधिकारियों के बीच शेयर की है और इसे बूथ के कार्यकर्ता तक पहुंचाने का काम किया है।

पार्टी की ओर से जो कार्यक्रम इसको लेकर तय किए गए हैं, उसमें 17 सितम्बर से 7 अक्टूबर के बीच शिवराज सरकार द्वारा 71 लाख वैक्सीन लगवाने का काम करने में कार्यकर्ताओं का सहयोग शामिल है। कार्यकर्ता इसके लिए लोगों को उत्प्रेरित करेंगे। 17 सितम्बर को ही मोदी के व्यक्तित्व पर प्रदर्शनी लगाई जाएगी। इसके साथ ही मंदिरों में स्वच्छता अभियान चलेंगे। नदियों में 71 स्थानों पर सफाई कराई जाएगी। दिव्यांगों को कृत्रिम उपकरण दिए जाएंगे और रक्तदान के साथ वृद्धों को फल वितरित होंगे। हर नगरीय निकाय में 71 पौधे रोपकर नमो उपवन तैयार किए जाएंगे। आज से पीएम मोदी को मिले मोमेंटो की आनलाइन नीलामी में भी प्रदेश भाजपा के लोग सहयोग करेंगे।

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष वीडी शर्मा ने बुधवार को प्रधानमंत्री मोदी के जन्मदिन पर होने वाले सेवा समर्पण अभियान की जानकारी पत्रकारों को दी। शर्मा ने कहा कि सेवा और समर्पण अभियान से आम जन को जोड़ने का काम कार्यकर्ता करेंगे। इसके साथ ही पार्टी के पितृपुरुष कुशाभाऊ ठाकरे जन्मशती समारोह के अंतर्गत साल भर चलने वाले अभियान के बारे में भी चर्चा की।

प्रदेश में कोल ब्लाक और अन्य खदानों व उद्योगों की प्रचुरता के चलते ऊर्जाधानी के रूप में जाना जाने वाले सिंगरौली जिला एक साल में सिर्फ स्वच्छता पर 17.50 करोड़ रुपए खर्च करेगा। प्रदेश में डीएमएफ से सबसे अधिक राजस्व कमाने वाला सिंगरौली जिला यहां की सड़कों और अन्य निर्माण कार्यों के लिए 56 करोड़ रुपए खर्च कर सकेगा। राज्य शासन ने कलेक्टर के प्रस्ताव को मंजूरी देते हुए जिले में डिस्ट्रिक्ट माइनिंग फंड से अलग-अलग विकास कार्य कराने के लिए 184 करोड़ रुपए के प्रस्तावों का अनुमोदन किया है।

खनिज साधन विभाग द्वारा जिला खनिज प्रतिष्ठान नियम 2016 के अंतर्गत डीएमएफ की राशि खर्च करने के लिए वार्षिक कार्ययोजना सिंगरौली कलेक्टर से मांगी थी। इस कार्ययोजना में जिले के पास मौजूद डीएमएफ की राशि 189.22 करोड़ में से 184.75 करोड़ की मंजूरी दी गई है। इस जिले में पेयजल के लिए 15 करोड़, स्वास्थ्य देखभाल के लिए 20 करोड़ शिक्षा पर 40 करोड़, महिला और बाल कल्याण पर 11 करोड़ और कौशल विकास पर 15 करोड़ रुपए कलेक्टर खर्च कर सकेंगे। सबसे अधिक 56.25 प्रतिशत राशि सिंगरौली में विकास कार्यों के लिए दिए गए प्रस्तावों पर खर्च की जा सकेगी।

 इससे यहां भौतिक संरचनाओं के निर्माण के लिए अलग से राशि की जरूरत नहीं होगी। इसके अलावा छतरपुर जिले में दस करोड़ रुपए खर्च करने की मंजूरी दी गई है। इस जिले में 17 लाख रुपए स्वच्छता के लिए खर्च किए जा सकेंगे और एक करोड़ रुपए के निर्माण कार्य कराए जा सकेंगे।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close