देश

बिहारी मजदूर साथियों की मौत से दहशत में , घाटी से लौटने बना रहे मन, लद्दाख में भी डरे हुए हैं बिहार के लोग 

बांका पूर्णिया
जम्मू-कश्मीर में बिहारियों समेत गैर कश्मीरियों के खिलाफ आतंकियों का हमला जारी है। रविवार शाम भी आतंकियों ने दक्षिण कश्मीर के कुलगाम में घर में घुसकर बिहार के अररिया जिले के तीन मजदूरों को गोली मार दी। इस हमले में दो श्रमिकों राजा ऋषिदेव और योगेंद्र ऋषिदेव की मौत हो गई। घायल श्रमिक चुनचुन ऋषिदेव को अनंतनाग के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। शनिवार को भी आतंकियों ने बांका के अरविंद साह की हत्या कर दी थी। इससे पहले  हाल ही में आतंकियों ने भागलपुर के वीरेंद्र पासवान को भी मार डाला था। इन हमलों से सहमे  बिहार के श्रमिक जम्मू-कश्मीर से लौटने की तैयारी करने लगे हैं।  अरविंद साह के भाई मंटू साह ने बताया कि उसके गांव पड़घड़ी और आसपास के करीब 200 लोग घाटी में रहते हैं। दैनिक मजदूरी, छोटी दुकानदारी और हलवाई का काम कर अपना भरण-पोषण करते हैं। इन लोगों के पास लौटने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचा है। मंटू साह ने बताया कि गांव के अभिनंदन साह, मुन्न साह, अशोक साह, दुर्गेश साह, निरंजन साह, बिट्टू साह, चंदन साह, छोटू साह, पिंटू साह आदि दो-तीन दिनों के अंदर गांव की ओर चल देंगे। टी के मौजूदा हालात से इन सभी के मन में दहशत है। इसी तरह जलालगढ़ के याकूब आलम, अररिया के मंसूर आलम, बरसौनी के रजत कुमार राजभर ने बताया कि उनके परिजन पांच माह पहले घाटी गए थे। गैर कश्मीरियों की हत्या के बाद ठेकेदार बकाया रकम भी नहीं दे रहे, ताकि सब वहां से लौट आएं।

लद्दाख में भी डरे हुए हैं बिहार के लोग
दो दिन पहले पूर्णिया जिला निवासी राजमिस्त्री मो. मुजाहिद की हत्या कारगिल में कुछ अपराधियों ने ईंट से कूचकर कर दी। हालांकि इस घटना को आतंकियों ने अंजाम दिया है, यह स्पष्ट नहीं हुआ है। इस घटना के बाद से केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख में रह रहे बिहार के मजदूरों में भी डर घर कर गया है। यहां भी कोसी-सीमांचल के सैकड़ों मजदूर रहते हैं। डगरूआ के करियात गांव निवासी मुजाहिद का शव भी पूर्णिया पहुंचने ही वाला है। बायसी के मो. मकसूद ने बताया कि उनके दो बेटे चार महीने से लेह में हैं। एक पुत्र पर पहले भी हमला हो चुका है। वापसी मुश्किल हो रही है।

पटना पहुंचा अरविंद का शव
श्रीनगर में आतंकियों की गोली से मारे गए बांका के युवक अरविंद कुमार का शव रविवार की रात पटना एयरपोर्ट लाया गया। रविवार की रात करीब 9 बजे गो एयर की फ्लाइट से बांका के बाराहाट थाना के पड़घड़ी गांव के रहने वाले अरविंद का शव लाया गया। जिस विमान से शव लाया गया उसमें अरविंद के भाई गुड्डू और चचेरे भाई भी आए। इस दौरान एयरपोर्ट पर श्रम संसाधन मंत्री जीवेश मिश्रा और डीएम चंद्रशेखर सिंह भी मौजूद थे। बांका जिला प्रशासन की टीम दिन में ही एंबुलेंस लेकर पटना आई थी। अरविंद के करीबी परिजन भी एयरपोर्ट आए थे। रात में ही एंबुलेंस से अरविंद का शव बांका ले जाया गया। इससे पहले श्रीनगर से अरविंद का शव दिल्ली लाया गया था। फिर दिल्ली से पटना पहुंचा।
 

Related Articles

Back to top button
Close