छत्तीसगढ़

बीजापुर में शराब की दुकान ने बढ़ाई परेशानी, नशेड़ी करते हैं ये हरकत

बीजापुर में शराब की दुकान ने बढ़ाई परेशानी, नशेड़ी करते हैं ये हरकतछत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के बीजापुर (Bijapur) जिला मुख्यालय में संचालित सरकारी शराब (Liquor) की दुकान लोगों के लिए मुसीबत का सबब बन गई है. नगर पालिका क्षेत्र के जेलबाड़ा वार्ड में संचालित देशी और विदेशी शराब (Liquor) की दुकान की वजह से वार्डवासी बेहद परेशान हैं. जिला मुख्यालय में ही रिहायशी इलाके में संचालित सरकारी शराब दुकान लोगों के लिए परेशानी का कारण है. शराब की दुकान के संचालन के लिए बीजापुर गंगालूर मार्ग पर नए पुलिस लाइन के सामने 3 साल पहले करीब 20 लाख रुपये की लागत से प्रशासन ने भवन का भी निर्माण करवाया था, मगर सुरक्षागत कारणों से शराब दुकान का संचालन नगर पालिका क्षेत्र के जेलबाडा वार्ड में संचालित किया जा रहा है.

बीजापुर (Bijapur) के वार्डवासियों का आरोप है कि शराबी नशे की हालत में उनके घरों में घुस जाते हैं. इतना ही नहीं लडकियों के साथ छेड़छाड़ भी करते हैं. किसी अनहोनी से घबराये परिजन लड़कियों को शाम 6 बजे के बाद अपने घरों में ताला लगाकर बंद कर देते हैं. वार्डवासियों का आरोप है कि मदिरा प्रेमी नशे की हालत में तेज रफ्तार में दो पहिया और चार पहिया वाहन चलाते हैं, जिससे अक्सर सड़क हादसे का खतरा बना रहता है. साथ ही नशे की हालत में शराबी गंदी गंदी गालियां देते रहते हैं, जिससे वार्ड का माहौल बिगड़ रहा है.

बता दें कि विपक्ष में रहते वक्त तात्कालीन कांग्रेस जिला अध्यक्ष विक्रम मंडावी के नेतृत्व में कांग्रेस ने वार्डवासियों के साथ मिलकर शराब दुकान के स्थानांतरण के लिए आंदोलन कर कलेक्टोरेट का घेराव भी किया था. स्थानीय महिलाओं का कहना है कि चुनाव जीतने के बाद से ही कांग्रेस और वर्तमान विधायक विक्रम मंडावी इस मुद्दे को भूल गए हैं. मामले में विधायक विक्रम मंडावी का कहना है कि लोगों की समस्याओं को ध्यान में रखकर जल्द ही कोई उचित निर्णय लिया जाएगा.

Related Articles

Back to top button
Close