छत्तीसगढ़

नरवा, गरूवा, घुरूवा और बाड़ी कार्यक्रम पर एक दिवसीय कार्यशाला सम्पन्न

बलरामपुर
सुराजी गावं योजनान्तर्गत नरवा, गरूवा, घुरूवा और बाड़ी के सभी घटकों की अवधारणा तथा योजना के सफल संचालन हेतु संयुक्त जिला कार्यालय भवन के सभाकक्ष में एक दिवशीय कार्यशाला का आयोजन किया गया।

कार्यशाला को संबोधित करते हुए कलेक्टर श्री संजीव कुमार झा ने प्रशिक्षण के उद्देश्य की जानकारी दी एवं बताया कि ग्रामीण अर्थव्यवस्था की मजबूती के लिए तथा नरवा, गरूवा, घुरूवा एवं बाड़ी के सफल संचालन हेतु प्रशिक्षण आयोजित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि गोठान के विकास के लिए सरकार निरंतर प्रयासरत् है, इसमें जितनी उन्नत व्यवस्था की जा सकेगी, ग्रामीण अर्थव्यस्था को उतनी ही मजबूती मिलेगी। उन्होंने सभी अधिकारियों-कर्मचारियों को गौठान में आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराने और इनके सुचारू रूप से संचालन के लिए नियमित निरीक्षण करने को कहा। उन्होंने कहा कि गोठान के महत्व को इस आधार पर समझा जा सकता है, कि सरकार ने गौठान दिवस मनाने का निर्णय लिया है।

कार्यशाला में राज्य स्तर के मास्टर ट्रेनर श्री विनय शील के द्वारा नरवा, गरूवा, घुरूवा और बाड़ी की प्रस्तावना तथा गांव की अवधारणा एवं निर्माण की कहानी को समझाते हुए विस्तारपूर्वक जानकारी दी गई। उन्होंने गांव के नाम के पीछे के इतिहास को समझने और गांव के विभिन्न प्रमुख भागीदारों को जानने, नरवा, गरूवा, घुरूवा एवं बाड़ी की आवश्यकता, गांव में कृषि की स्थिति को स्पष्ट करते हुये इन विषयों की महत्ता को प्रशिक्षुओं को समझाया। उन्होंने प्रशिक्षण के अगले क्रम में गौठान समिति के गठन, उनके कार्य नियम एवं व्यवस्थाओं के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी दी। उन्होंने प्रेजेन्टेशन के माध्यम से संसाधनों और संरचनाओं का उपयोग करते हुए गांव में आर्थिक समृद्धि कैसे लायी जाये, इस पर चर्चा की। उन्होंने गौठान में चारागाह प्रबंधन एवं चुनौतियां, चारागाह प्रबंधन में समाजिक समावेश व एक जुटता, गौठान समिति का लेखा एवं पंजी संधारण, समिति की कार्ययोजना का मूल्यांकन, निगरानी एवं सीखने के तरीकों को विस्तार से प्रोजेक्टर के माध्यम से बताया। प्रशिक्षण के अंतिम चरण में उन्होंने प्रतिभागियों के शंकाओं एवं प्रश्नों का जवाब दिया।
कार्यशाला में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री हरीष एस., उप संचालक कृषि, उप संचालक पशु पालन, सहायक संचालक उद्यान, सर्व जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी सहित संबंधित अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।

Related Articles

Back to top button
Close