मध्य प्रदेश

दैनिक वेतनभोगी से स्थाईकर्मी बने कर्मचारियों को कमलनाथ की सौगात

भोपाल
दैनिक वेतनभोगी कर्मचारियों से स्थाईकर्मी बने कर्मचारियों को लेकर प्रदेश की कमलनाथ सरकार ने बड़ा फैसला लिया है।जिसके तहत सरकार ने कर्मचारियों की सेवानिवृत्ति आयु दो साल बढ़ाने का निर्णय लिया है।  अब कर्मचारी 60  में नही बल्कि 62  साल में रिटायर होंगें। सामान्य प्रशासन विभाग के इस प्रस्ताव को वित्त विभाग ने मंजूरी भी दे दी है।अब इसे अगली कैबिनेट में रखा जाएगा।

दरअसल, विधानसभा चुनाव से पहले पदोन्नतियों और कर्मचारियों में व्याप्त आक्रोश को देखते हुए  शिवराज सरकार ने कर्मचारियों की सेवानिवृत्ति आयु 60 से बढ़ाकर 62 साल कर दी थी, लेकिन दैनिक वेतनभोगी कर्मचारी (स्थाईकर्मी) को इसमें शामिल नही किया गया था। इसकी वजह से जल संसाधन सहित कुछ अन्य विभागों ने 60 साल में ही कर्मचारियों को सेवानिवृत्त कर दिया। कुछ मामले हाईकोर्ट भी पहुंचे तो कोर्ट ने समान व्यवहार करने के निर्देश दिए।जिसके बाद सामान्य प्रशासन विभाग ने स्थाईकर्मियों की सेवानिवृत्ति आयु सीमा बढ़ाने का प्रस्ताव बनाकर वित्त विभाग की मंजूरी के लिए भेजा था।जिसे विभाग ने अनुमोदन दे दिया है।

अब इसे कैबिनेट के सामने रखा जाएगा और हरी झंडी मिलने के बाद आदेश जारी किए जाएंगें। साथ ही तय किया जाएगा कि इसका लाभ कब से दिया जाना है। सरकार के इस कदम का फायदा लगभग बारह हजार स्थाई कर्मचारियों को मिल सकता है।

Related Articles

Back to top button
Close