देश

झारखंड में 5 चरणों में होंगे विधानसभा चुनाव, 23 दिसंबर को आएंगे नतीजे

नई दिल्ली
झारखंड में विधानसभा चुनाव का बिगुल बज चुका है। 81 सीटों वाली विधानसभा के लिए 30 नवंबर से 5 चरणों में चुनाव होंगे। नतीजे 23 दिसंबर को घोषित होंगे। इसके साथ ही सूबे में चुनाव आचार संहित लागू हो गई है। पहले चरण में 30 नवंबर, दूसरे चरण में 7 दिसंबर, तीसरे चरण में 12 दिसंबर, चौथे चरण में 16 दिसंबर और पांचवें व आखिरी चरण में 20 दिसंबर को वोट डाले जाएंगे। झारखंड की मौजूदा विधानसभा का कार्यकाल 5 जनवरी 2020 को खत्म हो रहा है।

23 दिसंबर को आएंगे नतीजे

पहले चरण में 30 नवंबर को 13 सीटों पर वोट डाले जाएंगे। दूसरे चरण में 20 सीटों पर 7 दिसंबर को वोट डाले जाएंगे। तीसरे चरण में 12 दिसंबर को 17 सीटों पर वोटिंग होगी। चौथे चरण में 16 दिसंबर को 15 सीटों और पांचवें व आखिरी चरण में 20 दिसंबर को 16 सीटों पर वोट डाले जाएंगे। 23 दिसंबर को नतीजे घोषित होंगे।

दिव्यांग और सीनियर सिटिजन को पोस्टल बैलट की सुविधा
पहली बार शारीरिक दिव्यांग और सीनियर सिटिजन घर बैठे पोस्टल बैलट के जरिए अपना वोट डाल सकेंगे। उनके पास पोलिंग स्टेशन पर जाकर ईवीएम से वोट डालने के अलावा घर बैठे पोस्टल बैलट के जरिए अपने मताधिकार का इस्तेमाल करने का विकल्प होगा।

बहुमत के लिए 41 सीटों की होगी जरूरत
81 सदस्यीय झारखंड विधानसभा में सरकार बनाने के लिए किसी पार्टी या गठबंधन को कम से कम 41 सीटों पर जीत हासिल करनी होगी। सत्ताधारी बीजेपी और ऑल झारखंड स्टूडेंट्स यूनियन (AJSU) गठबंधन के सामने सरकार बचाने की चुनौती होगी। पिछले चुनाव में बीजेपी ने 37 और उसकी सहयोगी AJSU ने 5 सीटों पर जीत हासिल की थी। दोनों दलों ने बीजेपी के रघुबर दास के नेतृत्व में सरकार का गठन किया, जिसने अपना 5 साल का कार्यकाल पूरा किया।

पिछले चुनाव में पार्टियों का प्रदर्शन
2014 के पिछले झारखंड विधानसभा चुनाव में कुल 81 सीटों में से बीजेपी ने 37 पर जीत ( 31.3 प्रतिशत वोटशेयर) हासिल की थी। AJSU ने 3.7 प्रतिशत वोटशेयर के साथ 5 सीटें जीती थीं। झारखंड मुक्ति मोर्चा का वोटशेयर 20.4 प्रतिशत था और पार्टी की झोली में 19 सीटें आई थीं। बाबू लाल मरांडी के झारखंड विकास मोर्चा (JVM) ने करीब 10 प्रतिशत वोटशेयर के साथ 8 सीटों पर जीत हासिल की थी। हालांकि, बाद में उसके 6 विधायक बीजेपी में शामिल हो गए। कांग्रेस 10.5 प्रतिशत वोटशेयर के साथ 7 सीटें जीतने में कामयाब हुई थी। 6 सीटें अन्य के खाते में गई थीं।

इस बार के चुनाव की खास बातें

चुनाव खर्चों पर नजर रखने के लिए हर जिले में इनकम टैक्स के अफसर तैनात हैं।

– शारीरिक दिव्यांग, सीनियर सिटिजन को पोस्टल बैलट से वोट देने की सुविधा।

-पोलिंग स्टेशनों की संख्या में 20 प्रतिशत का इजाफा हुआ है।

– झारखंड में अपडेटेड वोटर लिस्ट में कुल 2.265 करोड़ वोटर हैं। 12 अक्टूबर 2019 को फाइनल वोटर लिस्ट प्रकाशित की गई।

– वामपंथी चरमपंथ से प्रभावित इलाकों में सुरक्षा की समुचित व्यवस्था की गई है। राज्य के 19 जिलों की कुल 67 सीटें नक्सल प्रभावित हैं।

– 19 जिले संवेदनशील, इनमें से 13 अति संवेदनशील।

 

Tags

Related Articles

Back to top button
Close