मंच तैयार, सामने गद्दे बिछाए गए, 24 घंटे के लिए गांधी प्रतिमा के सामने बैठेंगे मुख्यमंत्री

CM शिवराजसिंह चौहान के 'स्वास्थ्य आग्रह' के लिए बनाया गया मंच।
व्यापारी संघों, स्वय सेवी संगठनों, कोरोना वालेंटियर्स और नर्सिंग स्टाफ से चर्चा करेंगे
कैबिनेट बैठक होगी, जिलों के प्रमुख व्यक्तियों से बात करेंगे

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज दोपहर 12 बजे से मिंटो हॉल में गांधी प्रतिमा के पास 24 घंटे के लिए स्वास्थ्य आग्रह पर बैठेंगे। इस दौरान वे कोरोना के संबंध में चिकित्सा विशेषज्ञों, धर्मगुरुओं, जन प्रतिनिधियों, सामाजिक संगठनों आदि के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से चर्चा भी करेंगे। मुख्यमंत्री दोपहर 2 बजे इसी स्थल पर कोरोना संबंधी बैठक भी करेंगे। यहां एक बड़े डोम में उनके उनके लिए मंच बनाया गया है। उसके सामने नीचे गद्दे बिछाए गए हैं। सामने एक बड़ा स्क्रीन लगा है जिस पर मुख्यमंत्री वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से धर्मगुरुओं, डॉक्टरों से बातचीत करेंगे। मंच के पीछे बैठक रूम बना है। गर्मी को देखते हुए यहां पर कूलर लाए गए हैं लेकिन कर्मचारियों का कहना है कि कूलर वापस जा रहे हैं सिर्फ पंखे लगेंगे।

सीएम के स्वास्थ्य आग्रह के दौरान मिंटो हॉल में गांधी की प्रतिमा के पास ही खुले आसमान के नीचे मुख्यमंत्री कार्यालय संचालित होगा। जानकारी के मुताबिक सीएम दोपहर 12:30 बजे कोरोना के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए कैबिनेट की बैठक करेंगे। इसके बाद दोपहर 2 बजे से व्यापारी संघों, स्वय सेवी संगठनों, कोरोना वालेंटियर्स और नर्सिंग स्टाफ के अलावा ट्रांसपोर्ट एसोशिएशन के पदाधिकारियों से चर्चा करेंगे।

मंत्रालय सूत्रों ने बताया कि मुख्यमंत्री एक बार में 13-13 जिलों के प्रमुख व्यक्तियों से बात करेंगे। इसके लिए 4 स्लॉट बनाए गए हैं। यह कार्यक्रम शाम 6 बजे तक चलेगा। जबकि अगले दिन यानी 7 अप्रैल को मुख्यमंत्री सुबह 10 बजे प्रदेश के धर्मगुरुओं से संवाद करेंगे। भोपाल के धर्मगुरुओं को कार्यक्रम स्थल पर आमंत्रित किया गया है।

सीएम शिवराज ने कहा कि कोरोना को खत्म करने के इस अभियान में हर व्यक्ति के जनसहयोग के लिए आज से प्रदेश में 'मैं कोरोना स्वयं-सेवक हूँ' अभियान प्रारंभ किया जा रहा है। कोई भी व्यक्ति 181 नंबर पर संपर्क कर कोरोना वॉलिंटियर के रूप में अपना पंजीयन करवा सकता है। कोरोना स्वयं-सेवक आमजन को मास्क लगाने, सोशल डिस्टेंसिंग रखने, वैक्सीनेशन करवाने (45 वर्ष से अधिक उम्र के व्यक्तियों को) आदि के लिए प्रेरित करेंगे और इस कार्य में उनकी मदद भी करेंगे।