बंगाल के उलुबेड़िया में TMC नेता के घर EVM मिली; असम में एक बूथ पर 90 वोटर, लेकिन EVM में 181 वोट पड़े

बंगाल में आज तीसरे फेज की वोटिंग के दौरान बंगाल के दौरान चुनाव ड्यूटी में लगे अफसरों की लापरवाही सामने आई है। उलुबेड़िया में TMC नेता के घर से EVM और VVPAT मिली हैं। इस मामले में चुनाव आयोग ने सेक्टर ऑफिसर तपन सरकार को सस्पेंड कर दिया है। आयोग ने कहा है कि ये रिजर्व EVM और VVPAT थीं, जिन्हें अब इलेक्शन प्रोसेस से हटा दिया गया है। इस मामले में शामिल सभी लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

वहीं असम के हाफलोंग पोलिंग बूथ पर एक अप्रैल को हुई दूसरे फेज की वोटिंग में गड़बड़ी का हैरान करने वाला मामला सामने आया है। इस बूथ पर कुल 90 वोटर हैं, लेकिन वोटों की संख्या 181 हो गई। प्रदेश के चीफ इलेक्टोरल ऑफिसर ने बताया कि मामले में सेक्टर अधिकारी, पीठासीन अधिकारी और 4 कर्मचारियों को सस्पेंड किया गया है। इनमें एक बूथ लेवल का अधिकारी भी शामिल है।

असम में BJP उम्मीदवार की गाड़ी से मिली थी EVM

एक अप्रैल को ही असम के पथरकंडी में BJP प्रत्याशी कृष्णेंदु पॉल की गाड़ी में EVM मिलने का मामला भी सामने आया था। विपक्ष ने इस मामले में BJP के साथ-साथ चुनाव आयोग पर भी हमला बोला था। इसके बाद चुनाव आयोग ने सफाई देते हुए कहा था कि गाड़ी खराब हो गई थी। इसके बाद चुनाव अधिकारियों को BJP प्रत्याशी की गाड़ी में लिफ्ट लेनी पड़ी। आयोग ने मामले में 4 अधिकारियों को सस्पेंड भी किया है। EVM को कब्जे में ले लिया गया है। अधिकारियों ने बताया कि EVM सुरक्षित है और इसके साथ कोई छेड़छाड़ नहीं हुई है। साथ ही एक बूथ पर दोबारा चुनाव करवाने के निर्देश दिए हैं।

आखिरी फेज की वोटिंग जारी

असम में आज आखिरी फेज की वोटिंग हो रही है। इस फेज में राज्य के 12 जिलों की 40 सीटों पर मतदान हो रहा है। इसमें जलुकबरी सीट भी है, जहां से सरकार के वरिष्ठ मंत्री और BJP नेता हेमंत बिस्वा सरमा चुनाव लड़ रहे हैं। इससे पहले 27 मार्च और 1 अप्रैल को पहले दो फेज की वोटिंग हुई थी। इस दौरान 47 और 39 सीटों के लिए वोट डाले गए थे। नतीजे 2 मई को आएंगे।