मथुरा. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मथुरा (Mathura) के थानां बलदेव क्षेत्र में पुलिस (Police) टीम पर हमला, मारपीट व फायरिंग करने के मामले में कार्रवाई की गई है. इस मामले के तीन अभियुक्तों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. बाकी अन्य की तलाश में पुलिस लगातार दबिश दे रही है. इस घटना के संबंध में थाना बलदेव में मु0अ0सं0 79/2021  धारा 147, 148, 149, 323, 332, 353, 336, 307, 394 ipc व 7 CLA.Act तथा 60 एक्साइज एक्ट का अभियोग पंजीकृत किया गया है.  बता दें कि होली वाले दिन पुलिस को ग्राम नगला डोडिया में झगडे़ की सूचना मिली थी, जिस पर पुलिस टीम मौके पर रवाना हो रही थी कि तभी रास्ते में ग्राम नगला संजा के पास चौराहे पर परचून की दुकान के सामने 8-9 लोग तख्त पर बैठकर शराब पी रहे थे और प्रकाश पुत्र जगबीर व सोनू पुत्र जगबीर निवासी नगला संजा अवैध शराब बेच रहे थे.

पुलिस के पूछताछ करने पर प्रकाश व सोनू तथा उसके साथ मौजूद अन्य लोगों द्वारा पुलिस बल पर ईट व पत्थरों से हमला कर दिया गया,  जिससे पुलिस के चोट आई. पुलिस अधिकारियों का कहना है कि उपरोक्त लोगों ने जान से मारने की नियत से तमंचे से पुलिस पार्टी पर फायर किया. इस घटना की सूचना मिलने पर अतिरिक्त पुलिस बल द्वारा मौके पर पहुंचकर घटना में संलिप्त आरोपी टिंकू पुत्र राजपाल सिंह निवासी नगला संजा को दो पेटी अवैध शराब के साथ तथा सत्यपाल पुत्र सत्यवीर को बगैर नंबर प्लैटिना मोटरसाइकिल के साथ व इकबाल पुत्र जहांगीर को 1 पेटी अवैध शराब के साथ व एक स्कूली वैन के साथ गिरफ्तार किया गया.

इनको किया गिरफ्तार

गिरफ्तार किए गए आरोपियों में टिंकू पुत्र राजपाल सिंह निवासी नगला संजा, सत्यपाल पुत्र सत्यवीर , निवासी नगला संजा, इकबाल पुत्र जहांगीर, निवासी नगला संजा शामिल हैं. उधर वृंदावन में कुंभ क्षेत्र , थाना कोतवाली और सौ शय्या अस्पताल में तीन बार पुलिस को दौड़ा दौड़ा कर चपल्लो से पीटने वाले भाजपा एवं संघ कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी ना होने पर विपक्ष के साथ अब आम लोग सवाल उठा रहे हैं. विपक्ष व आम लोगों का आरोप है कि सत्ता के दबाव के चलते पुलिस इन लोगों को गिरफ्तार नहीं कर रही है, जिससे पुलिस की छवि तो धूमिल हो ही रही है वही पुलिसकर्मियी का मनोबल भी कमजोर पड़ा हुआ है.